Types Of Life Insurance Policy

Types Of Life Insurance Policy

जीवन बीमा पॉलिसी या कितने प्रकार की होती है

जीवन बीमा जिसमें पॉलिसी धारक के जीवन का जोखिम उठाया जाता है। जीवन बीमा में बीमा धारक और बीमा कंपनी के बीच कानूनी तौर पर कई समझौते होते हैं। जिसके पश्चात बीमा धारक के तौर पर बीमा कंपनी को प्रीमियम अदा करता है और उसके बदले में बीमा कंपनी उसके जीवन का जोखिम उठाती है। साथ ही बीमा धारक द्वारा जमा किए गए पैसों का बजट भी करती है।

Types Of Life Insurance Policy

जीवन बीमा पॉलिसी या कई प्रकार की होती है। जिसमें बीमा धारक अपनी इच्छा अनुसार किसी भी पॉलिसी का चयन कर सकता है। जीवन बीमा की सभी पॉलिसियों की नियम व शर्तें अलग अलग है। जो नीचे दी गई है।

1. Endowment Policy

इस पॉलिसी का नाम एंडोमेंट पॉलिसी इसलिए रखा गया है।क्योंकि इस पॉलिसी में एकमुश्त परिपक्वता दावा पॉलिसी धारक को मिलता है। यह पॉलिसी लेने के लिए व्यक्ति की उम्र न्यूनतम 8 वर्ष होनी चाहिए। इस पॉलिसी में न्यूनतम बीमा धन ₹100000 होना जरूरी है। इसके अलावा इस पॉलिसी में उत्तराधिकारी को पॉलिसी धारक की मृत्यु के पश्चात बीमा राशि मिलती है। एंडोमेंट पॉलिसी में एलआईसी के 4-5 प्लान है। इस पॉलिसी का भुगतान पॉलिसी अवधि पूर्ण होने के पश्चात होता है। इस पॉलिसी की न्यूनतम अवधि 12 वर्ष से अधिकतम 35 वर्ष है।

2. Term Insurance Policy

टर्म इंश्योरेंस का मतलब यह है। कि इसमें पॉलिसी धारक को परिपक्वता लाभ नहीं मिलता है। हालांकि टर्म इंश्योरेंस बहुत ही कम प्रीमियम में मिल जाता है। इस टर्म इंश्योरेंस की अवधि 15 वर्ष से 30 वर्ष तक हो सकती है। इसके तहत बीमित व्यक्ति की दुर्घटना में मौत होने पर ही इस पॉलिसी का लाभ प्राप्त होता है। अन्यथा जमा की गई राशि आपको वापस नहीं मिलती है।

3. Whole Life Insurance Policy

इस पॉलिसी के नाम से ही इस पॉलिसी के जिक्र का पता चल जाता है। यह पॉलिसी पूरी लाइफ को कवर करती है। एक निश्चित समय तक प्रीमियम भरना होता है। उसके पश्चात आपको हर साल किस्त के रूप में पेंशन के रूप में बीमा धन का 8 से 9% मिलता रहता है और 100 वर्ष तक इंश्योरेंस कवर इस पॉलिसी के तहत रहता है। अगर 100  से पहले आप की मृत्यु हो जाती है। तो आप के उत्तराधिकारी को बीमा राशि अदा की जाती है। अन्यथा परिपक्वता लाभ के आप खुद हकदार होते हैं।

4. Money Back Policy  

मनी बैक पॉलिसी में बीमा धारक को एक निश्चित समय अवधि के पश्चात पॉलिसी की अवधि के दौरान दो या तीन बार कुछ पैसे वापस मिलते हैं। इसीलिए इस पॉलिसी का नाम मनी बैक प्लान पड़ा है। मनी बैक पॉलिसी में पॉलिसी की अवधि तीन या चार भागों में निश्चित होती है। उनमें से ही एक को सेलेक्ट करना होता है।  परिपक्वता अवधि भी सेलेक्ट करनी होती है। मनचाही परिपक्वता अवधि आप नहीं चुन सकते।

5. Children’s Plan

जीवन बीमा के कुछ नियमों के अनुसार बच्चों के लिए कुछ अलग प्लान निकाले गए हैं। जिन्हें चिल्ड्रन प्लान के नाम से जाना जाता है। चिल्ड्रन प्लान के तौर पर एक एंडोमेंट प्लान है और एक मनी बैक प्लान है। उनमें से कोई भी प्लान सेलेक्ट कर सकते हैं। चिल्ड्रन प्लान के बच्चे की पॉलिसी लेने के लिए बचा न्यूनतम 90 दिन का होना चाहिए।

Leave a Comment